अखिर कब है जन्माष्टमी ?

मथुरा में दो दिन मनाई जाएगी श्रीकृष्ण जन्माष्टमी
-ग्रह नक्षत्रों की गणना के हिसाब से व मुहूर्त देखकर तय होती है तिथि- हरिहर पुरी – महंत श्री मन:कामेश्वर मठ मन्दिर आगरा
-श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर 24 की मध्यरात्रि में होगा अभिषेक

मथुरा। जन्माष्टमी इस बार किस दिन मनाई जाएगी, इसे लेकर लोगों में अभी भी उलझन है। यह उलझन 23 और 24 अगस्त को लेकर है। पंचाग को देखें तो अष्टमी तिथि 23 अगस्त को ही सुबह 8.09 बजे से शुरू हो रही है और यह 24 अगस्त को सुबह 8.32 बजे खत्म होगा। वहीं, रोहिणी नक्षत्र 24 अगस्त को सुबह 3.48 बजे से शुरू होगा और ये 25 अगस्त को सुबह 4.17 बजे उतरेगा। कुछ पंडितों के अनुसार रोहिणी नक्षत्र 23 अगस्त को रात 11.56 बजे से ही शुरू हो जाएगा। जानकारों का मत है कि भगवान कृष्ण का जन्म अष्टमी तिथि और रोहिणी नक्षत्र में हुआ था। इस लिहाज से यह दोनों संयोग 23 अगस्त को बन रहे हैं। ऐसे में 23 अगस्त को जन्माष्टमी मनाना शुभ होगा। हालांकि, कई जानकार 24 अगस्त को इस बार जन्माष्टमी मनाना शुभ मान रहे हैं। बिहारी जी मन्दिर में 23 को हैै। पंडित उमेष भारद्वाज ने बताया कि इस बार मथुरा में 23 और 24 अगस्त यानि दो दिन कान्हा का जन्मोत्सव मनाया जाएगा। ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर में 23 को श्री कृष्ण जन्मोत्सव का आयोजन होगा। रात 12 बजे ठाकुरजी के श्री विग्रह का अभिषेक होगा। इसके बाद 1.45 पर बांकेबिहारी के पट खुलेंगे और रात 1.55 पर वर्ष में एक बार होने वाली ठाकुर बांके बिहारी की मंगला आरती होगी। नंदगांव में 23 को जन्मोत्सव और 24 को नंदोत्सव का आयोजन किया जाएगा।
23 को कान्हा का जन्म होने की खुशी से पहले बरसाना वासी बधाई का लड्डू लेने के लिए नंदगांव पहुंचेंगे। 24 नंदोत्सव का आयोजन होगा। प्रेम मंदिर में 23 अगस्त को रात 12 बजे श्री विग्रहों को अभिषेक किया जाएगा।
प्राचीन ठाकुर केशव देव मंदिर में श्रीकृष्ण जन्म महोत्सव 23 अगस्त से प्रारंभ होकर 25 अगस्त तक मनाया जाएगा। महोत्सव के अंर्तगत 23 अगस्त को सायं काल 7 से 12 बजे तक भजन संध्या का आयोजन होगा। रात्रि 10 से 11 बजे तक जन्म के दर्शन होंगे।
रात्रि 12 से 1 बजे तक भगवान का अभिषेक के बाद नई पोशाक भगवान को धारण कराई जाएगी। 24 अगस्त को बधाई गायन एवं 25 अगस्त को भगवान के रजत पालना में प्रातरू 6 से 1 बजे तक दर्शन होंगे। भगवान का नंद महोत्सव एवं बधाई गायन कार्यक्रम प्रातरू 10 से 1 बजे तक चलेगा।

हरिहर पुरी – महंत श्री मन:कामेश्वर मठ मन्दिर आगरा

श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर 24 अगस्त को होगा जन्म अभिषेक
श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर 24 को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव का आयोजन होगा। रात्रि 12 बजे से ठाकुरजी के श्री विग्रहों का अभिषेक किया जाएगा। इसके बाद रात्रि 1.30 बजे तक मंदिर के दर्शन भक्तों को उपलब्ध होंगे। अगले दिन 25 अगस्त को नंदोत्सव का आयोजन होगा।

कहां कब मनाई जायेगी जन्माष्टमी
-द्वारिकाधीश मंदिर में श्री कृष्ण जन्मोत्सव 24 अगस्त को मनाया जाएगा। 24 अगस्त को रात्रि 12 बजे शंखनाद के बीच ठाकुरजी का जन्मोत्सव मनाया जाएगा।
-दामोदर मंदिर में 24 अगस्त को जन्माष्टमी महोत्सव मनाया जाएगा। प्रातरू 9.30 से 12 बजे तक अभिषेक होगा। दोपहर 1 बजे शृंगार आरती होगी। उसके बाद मंदिर के पट बंद हो जाएंगे। शाम को पुनरू 5 बजे मंदिर के पट खुलेंगे मंदिर में 8.30 बजे तक भक्तों को छप्पन भोग के दर्शन होंगे
-इस्कॉन मंदिर में 24 अगस्त को कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाएगी। 24 अगस्त की रात 11रू30 बजे से अजन्मा का अभिषेक शुरू होगा। जो कि रात 1 बजे तक चलेगा इसके पश्चात शृंगार आरती की जाएगी।
-गोकुल में श्री कृष्ण जन्मोत्सव का आयोजन 24 अगस्त को मनाया जाएगा। 24 को रात्रि 12 राजा ठाकुर, गोकुलनाथ आदि मंदिर में 24 को श्री कृष्ण जन्मोत्सव होगा। मंदिरों में ठाकुरजी के श्री विग्रह का अभिषेक होगा। अगले दिन 25 अगस्त को नंदबाबा मंदिर से ढोला निकाला जाएगा। यह ढोला नगर के विभिन्न मार्गों से होते हुए नंद चैक पहुचेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Accepted file types: jpg, pdf, png, mp4, Max. file size: 100 MB.