कब्जे में भगोड़ा कारोबारी विनय मित्तल, इंडोनेशिया से हुआ प्रत्यपर्ण

आर्थिक अपराधियों पर नकेल कसने की दिशा में भारत को बड़ी सफलता हाथ लगी है. बैंक धोखाधड़ी के 7 मामलों में भगोड़ा कारोबारी विनय मित्तल का इंडोनेशिया से भारत प्रत्यर्पण किया गया है. अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. मित्तल का नाम प्रमुख भगोड़े आर्थिक अपराधियों की सरकारी लिस्ट में शामिल है. इसमें विजय माल्या, नितिन संदेसारा, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और जतिन मेहता सरीखे भगोड़े आर्थिक अपराधियों के नाम भी हैं.

सीबीआई ने कॉरपोरेशन बैंक और पंजाब नेशनल बैंक के आग्रह पर 2014 और 2016 में मित्तल के खिलाफ मामले दर्ज किए थे. अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई ने दिल्ली और गाजियाबाद की अदालतों में मित्तल के खिलाफ सात आरोपपत्र दाखिल किए थे, इसके बाद मित्तल देश छोड़कर भाग गया था. उन्होंने बताया कि अदालत ने मित्तल को भगोड़ा घोषित कर दिया. एजेंसी उसके खिलाफ एक रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर चुकी है.

अधिकारियों ने बताया कि गहन खोज के बाद मित्तल इंडोनेशिया के बाली में अपने परिवार के साथ मिला. उन्होंने बताया कि इंडोनेशियाई प्रशासन ने रेड कॉर्नर नोटिस के आधार पर मित्तल को जनवरी 2017 में गिरफ्तार किया था. अधिकारियों ने बताया कि हाल में इंडोनेशियाई राष्ट्रपति ने उद्योगपति के भारत प्रत्यर्पण को मंजूरी दी. इसके बाद, उसे इस माह भारत भेज दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Accepted file types: jpg, pdf, png, mp4, Max. file size: 100 MB.