निर्देशों का पालन ना होने से योगी सरकार ने निलंबित किया एसएसपी को।

प्रयागराज: यूपी के आदरणीय cm योगी आदित्यनाथ ने प्रयागराज के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक दीक्षित पर कड़ी कार्यवाही की और उन्हें छुट्टी करके निलंबीत कर दिया। अभिषेक दीक्षित पर अपराध नियंत्रण, क़ानून व्यवस्था में शिथिलता और भ्रष्टाचार के गम्भीर आरोप की शिकायत मिली है। निलंबन के दौरान अभिषेक दीक्षित डीजीपी मुख्यालय में कार्य करेंगे है।अभिषेक दीक्षित पर आरोप है कि उनके तैनाती में अनियमितताएं किए जाने तथा शासन मुख्यालय के निर्देशों का अनुपालन सही ढंग से नहीं किए गया है।गृह विभाग के प्रवक्ता ने कहा है कि अभिषेक दीक्षित पर प्रयागराज में तैनाती के गंभीर आरोप लगे हैं। प्रवक्ता के अनुसार अभिषेक दीक्षित वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रयागराज पर तैनाती के दौरान अनेक अनियमितताएं किए जाने का शासन और मुख्यालय के निर्देशों का पालन सही ढंग से नहीं किए जाने का आरोप है

अभिषेक दीक्षित अपनी पावर का गलत इस्तेमाल करते हुए उन्होंने भ्रस्टाचार का हाथ थामे हुए बढावा दिया है शासन और मुख्यालय के निर्देशों को अनुरूप नियमित रूप से फूड पेट्रोलिंग किए जाने एवं बैंकों तथा आर्थिक व्यवसायिक प्रतिष्ठानों की सुरक्षा बाइकर्स द्वारा की जा रही लूट की घटनाओं की रोकथाम में भी इनके द्वारा कोई भी सख्त कार्रवाई नही की गई थी । जो कि गलत है।

अभिषेक दीक्षित को हटाकर प्रयागराज के डीआईजी के रूप में सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी को चुना गया है ,सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी
लखनऊ में पुलिस उपायुक्त के पद पर तैनात रहे 2006 बैच के आईपीएस अफसर है। और इनके जगह सीतापुर एटीसी में तैनात देवेश कुमार पांडेय को लखनऊ के पुलिस उपायुक्त रूप में चुना गया। खबर के मुताबिक आईपीएस डॉ अखिलेश निगम को एसपी सतर्कता अधिष्ठान से एसपी विशेष अनुसंधान शाखा सहकारिता यूपी, गंगा नाथ त्रिपाठी को डीआईजी क्षेत्रीय अभिसूचना प्रयागराज से भ्रष्टाचार निवारण संगठन मुख्यालय में तैनात किया गया। डॉ मनोज कुमार को डीआईजी 11वीं पीएसी सीतापुर से पीएसी अनुभाग लखनऊ और एसपी पुष्पांजलि डीआईजी रेलवे लखनऊ में तैनात किया गया है ।

कोरोना महामारी में शासन के द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग का जनपद में सही ढंग से दिशा निर्देश का पालन नहीं कराया गया था। जिसको लेकर हाईकोर्ट ने नाराजगी व्यक्त की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Accepted file types: jpg, pdf, png, mp4, Max. file size: 100 MB.