भारत-रूस ने नहीं लिया PAK का नाम और की आतंकवाद की निंदा

भारत और रूस ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना आतंकवाद की निंदा की है. दोनों देशों ने आतंकियों को राज्य द्वारा किसी भी तरह के समर्थन देने की आलोचना की. भारत और रूस द्वारा संयुक्त रूप से जारी बयान में सभी तरह के आतंकवाद, आतंकी नेटवर्क और आतंकियों को पनाह देने की भी कड़ी निंदा की. दोनों देशों ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना सीमा पार आतंकवाद की भी तीखी आलोचना की.

इस दौरान पीएम मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने आतंकवादी विचारधारा और आतंकी नेटवर्क के खात्मे के साथ-साथ आतंकियों को हथियार और पैसे की आपूर्ति करने वाले मध्यमों को भी खत्म करने पर सहमति जताई. भारत और रूस ने संयुक्त राष्ट्र में लटके अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद पर कन्वेंशन को जल्द पारित कराने की जरूरत बताई. इससे आतंकवाद को अंतरराष्ट्रीय कानून के दायरे में लाया जा सकेगा.

आपको बता दें कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन दो दिवसीय भारत दौरे पर आए हुए हैं. उन्होंने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की थी. शुक्रवार को भी पीएम मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच बातचीत हुई. इस दौरान दोनों देशों ने आठ समझौतों पर हस्ताक्षर भी किए, जिनमें अंतरिक्ष, परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण उपयोग, रेलवे समेत कई अन्य क्षेत्रों में सहयोग के विषय शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Accepted file types: jpg, pdf, png, mp4, Max. file size: 100 MB.