अब तक चीन पाकिस्तान के द्वारा आतंकीयो की मदद करता था,अब तालिबान के साथ रिश्ते गढ़ने की कोशिश में।

0
29

वर्ल्डन्यूज़: अब तक चीन पाकिस्तान की मदद करते आ रहा था ,और पाकिस्तान इसका फायदा उठाकर आतंकी संगठन को आश्रय देकर आतंकवाद को बढावा देते आ रहा था। अब चीन अफगानिस्तान के लिए मदद की आवाज उठाई जहाँ तालिबान ने अपनी शासन लागू कर दिया है।चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने सोमवार को मीडिया ब्रीफिंग के दौरान बोले की हमे अफगानिस्तान में मदद करनी चाहिए, इस समय अफगानिस्तान आर्थिक संकट में है और कहा कि अमेरिका और अंतरराष्ट्रीय समुदाय को अफगान नागरिकों के लिए मदद भेजनी चाहिए। यह तो पूरी दुनिया जानती है कि जो चीन बोलता उसकी ही बोली पाकिस्तान भी बोलता है तो बस इसी मुद्दे पर पाकिस्तान के एनएसए ने कहा था कि दुनिया को अफगानिस्तान में तालिबान के साथ रचनात्मक बातचीत करने की जरूरत है।

पाकिस्तान ने भी उठाया अफगानिस्तान को मदद भेजने का मुद्दा
बता दें कि चीन जो भाषा बोल रहा है, एक दिन पहले वही भाषा पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) मोईद युसूफ ने कहा था कि दुनिया को अफगानिस्तान में तालिबान के साथ रचनात्मक बातचीत करने की जरूरत है, ताकि शासन व्यवस्था को ध्वस्त होने से बचाया जा सके तथा एक और शरणार्थी संकट को टाला जा सके। एक बयान में यूसुफ के हवाले से कहा गया है कि अफगानिस्तान में सोवियत-अफगान मुजाहिदीन संघर्ष के बाद पश्चिमी दुनिया ने अफगानिस्तान को अलग-थलग छोड़ने और इसके घनिष्ठ सहयोगियों पर पाबंदियां लगाकर भयावह गलतियां कीं।

चीन का पुराना राग- आतंकवाद से नाता तोड़े तालिबान
चीन ने कहा कि अफगान तालिबान को आतंकवाद से दूरी बनाने के अपने वादे को निभाना चाहिए और तत्काल प्रभाव से ऐसी ताकतों को खत्म करने पर काम करना चाहिए। झाओ ने कहा कि आतंकवाद अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए बड़ा खतरा है। चीन उन सभी देशों के साथ सहयोग करने के लिए तैयार है, जो अफगानिस्तान में काम करना चाहते हैं। ताकि इस देश को आतंकवाद का केंद्र बनने से रोका जा सके।

झाओ लिजियान ने यूएन महासचिव के उस बयान का भी जिक्र किया, जिसमें उन्होंने अफगानिस्तान को बड़े खतरे से बचाने के लिए सभी देशों से मदद की अपील की थी। चीनी प्रवक्ता ने बताया कि उनकी तरफ से 3.1 करोड़ अमेरिकी डॉलर की मदद का एलान किया जा चुका है और अराजकता खत्म करने और व्यवस्था बहाल करने के लिए यह सहयोग जरूरी है। इस मदद के तहत चीन अफगानिस्तान को अनाज, सर्दी के सामान, कोरोना के टीके और जरूरत की दवाएं देगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here